Secret of success (सफलता का राज)

By | January 10, 2016
(Last Updated On: April 11, 2016)

 

 

 

download फ्र्गत्ग्त टी Y6RHHHH रह रह

 

Secret of success

(सफलता का राज)

 

एक गाँव में एक गुरु रहते थे और उनके चार शिष्य हमेशा की तरह गुरुजी से पाठ पढ़ते थे.

उनमे से एक शिष्य ने गुरुजी को पूछा ,गुरूजी !

जो लोग सफल हो जाते है उनके पीछे सबसे बड़ा राज क्या है ? तो गुरुजी मुस्कुरा के बोले तुम्हारा प्रशन और उत्सुकता जानने के लिए मुझे बहुत अच्छा लगा. गुरुजी ने उस शिष्य को कहा शिष्य छुटी होने के बाद तुम रुकना मै  तुम्हारा प्रशन का उत्तर दूंगा .

 

अब श्याम हो गया अब छुटी हो जुकी थी . शिष्य ने गुरुजी के पास गया और कहा गुरुजी आप मेरे प्रशन का उत्तर देंगे बोले .फिर गुरुजी बोले आओ मेरे साथ मै तुम्हारा उत्तर दूंगा . शिग्रह ही उसने मास्टरजी के पीछे गया . अब मास्टरजी उसे तालाब की ओर ले जा रहे थे. शिष्य समज नहीं पा रहा था की  तालाब की ओर क्यों ले जा रहे थे ? अब तालाब के यहाँ पहुंच गए थे . फिर क्या गुरुजी उसे पकड़ कर गहरे पानी में ले गए और उसे जोर से पकड़ के उसे पानी मै डुबो दिया .अब एक 1minute हो चूका था पर भी उसका मुह पानी से बहार नहीं आया अब 2minute बीत चूका था ,अब भी उसका सर पानी से बहार नहीं आया . अब उस शिष्य का मुँह लाल और बबूला हो  गया  था ,पानी में  उसका दम घुट रहा था, अंत मै गुरुजी उसको पानी से बहार निकल दिया. अब गुरूजी उसे पूछे शिष्य जब तुम पानी मै 3minute तक थे तब तुम्हे कैसे लगा. शिष्य सास फूलते हुहे बोला गुरुजी सास लेने के लिए तड़प था और मुझे कुछ भी मन में  नहीं आ रहा सिफ सास के लिए तड़प रहा था .फिर गुरुजी बोले ठीक उसी प्रकार सफलता पाने के लिए तड़पना पड़ेगा आप जिस जीज को पाने की कोशिस कर रहे हो . आप को अगर सूरज जैसे चमकना है तो पहले सूरज की तरह आपने आप को  सुफलता के लिए जलना पड़ेगा .

दोस्तों अगर आपको सफल बनना है  तो आपको तड़पना पड़ेगा सूरज की तरह तब जा के चमक आयेगी सूरज की तरह ..

अगर अच्छा लगे तोह like या comment कर देना                 

 

One thought on “Secret of success (सफलता का राज)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *